शिवसेना नहीं मानी तो ये रहा भाजपा का प्लान बी, ऐसे बनेगी महाराष्ट्र में सरकार

 ऐसे बनेगी महाराष्ट्र में सरकार  शिवसेना नहीं मानी तो ये रहा भाजपा का प्लान बी



महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव हो चुके हैं और नतीजे भी सामने आ गए हैं। इसके बाद भी अब तक कोई भी दल सरकार बनाने का दावा पेश नहीं कर सका है। इसकी वजह है भाजपा और शिवसेना के बीच तालमेल न बनना। भारतीय जनता पार्टी हर हाल में शिवसेना को मनाने की कोशिश कर रही है लेकिन शिवसेना ढाई साल के लिए सीएम पद लेने पर अड़ी है। हालांकि अगर शिवसेना नहीं मानी तो भाजपा के पास प्लान बी भी है जिसकी मदद से भाजपा की महाराष्ट्र में सरकार बन सकती है।

भारतीय जनता पार्टी को महाराष्ट्र सरकार में बहुमत नहीं मिल सका। उसको इस बार 105 सीटों से ही संतोष करना पड़ा है। वहीं शिवसेना के हिस्से 56 और एनसीपी के पास 54 सीटें आई हैं। भाजपा और शिवसेना मिलकर सरकार बनाने जा रहे हैं लेकिन पेंच सीएम पद और मंत्रियों के कोटों में फंसा है। शिवसेना ढाई साल के लिए सीएम पद और 18 मंत्रियों का कोटा मांग रही है। जबकि भाजपा डिप्टी सीएम पद और 14 मंत्रियों का कोटा देने पर राजी है। हालांकि भाजपा शिवसेना को मनाने की कोशिश तो कर रही है लेकिन अगर वो नहीं मानी तो बीजेपी के पास प्लान बी मौजूद है जिसके दम पर वो महाराष्ट्र में सरकार बना सकती है।

ये है भारतीय जनता पार्टी का प्लान बी

भारतीय जनता पार्टी के प्लान बी की बात करें तो वो बहुत खास है। इस प्लान को भाजपा साल 2014 में महाराष्ट्र में सरकार बनाने में इस्तेमाल भी कर चुकी है। इसके लिए भाजपा को एनसीपी को मनाना होगा कि वो परोक्ष रूप से उसका विरोध न करे। भाजपा के पास अभी 105 विधायक हैं। ऐसे में अगर बहुमत साबित करने के दौरान एनसीपी सदन से वॉक आउट कर जाए तो उसको बहुमत के लिए सिर्फ 118 का आंकड़ा छूना होगा। यानि भाजपा को बस 13 विधायकों की जरूरत होगी। चुनाव में 13 निर्दलीय विधायक चुनकर आए हैं और 15 से ऊपर छोटे दलों के विधायक भी हैं। यानि भाजपा की सरकार एक बार फिर बनने से शिवसेना रोक नहीं सकेगी।
(न्यूज सोर्स- news18.com)
Previous Post
Next Post
Related Posts