Happy fathers day : जानिए क्यों मनाया जाता है फादर्स डे और इसका इतिहास जान ने के लिए पूरा पोस्ट पड़े

Happy fathers day


जानिए क्यों मनाया जाता है फादर्स डे और इसका इतिहास जान ने के लिए पूरा पोस्ट पड़े जानिए क्यों मनाया जाता है फादर्स डे और इसका इतिहास जान ने के लिए पूरा पोस्ट पड़े एक बच्चे के लिए उसके पिता किसी सुपरमैन से कम नहीं होते। आपके पिता आपकी जिंदगी को खूबसूरत बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ते, ऐसे में अब बारी है आपकी कि उनके लिए 'फादर्स डे' पर कुछ स्पेशल करें। उन्हें ऐहसास दिलाएं कि वह आपके लिए कितने खास हैं।



बात 1909 की है. सोनोरा लुईस स्मार्ट डॉड (Sonora Louise Smart Dodd) नाम की 16 साल की लड़की ने फादर्स डे (Father's Day) मनाने की शुरुआत की. दरअसल, जब वो 16 साल की थी तब उसकी मां उसे और उसके पांच छोटे भाइयों को छोड़कर चली गईं.

सोनोरा और भाइयों की जिम्मेदारी उसके पिता पर आ गई. एक दिन 1909 में वह मदर्स डे (Mother's Day) बारे में सुन रही थी, तभी उसे महसूस हुआ कि ऐसा एक दिन पिता के नाम भी होना चाहिए.

सोनोरा ने फादर्स डे (Father's Day) मनाने के लिए एक याचिका दायर की. उसमें सोनोरा ने कहा कि उसके पिता का जन्मदिन जून में आता है इसलिए वो जून में ही फादर्स डे मनाना चाहती है. इस याचिका के लिए दो हस्ताक्षरों की जरुरत थी. इस वजह से उसने आस-पास मौजूद चर्च के सदस्यों को भी मनाया.

लेकिन फादर्स डे मनाने की मंजूरी नहीं मिली. लेकिन सोनोरा ने फादर्स डे (Fathers Day) मनाने की ठान ली थी, इसके लिए यूएस तक में कैंपेन किया. इस तरह 19 जून 1910 को पहली बार फादर्स डे मनाया गया.

वहीं, मदर्स डे 1914 में बतौर नेशनल हॉलिडे मनाया जाने लगा था. लेकिन 1972 तक फादर्स डे को राष्ट्रिय अवकाश घोषित नहीं किया गया था. आगे सालों में प्रेज़िडेंट वुड्रो विल्सन, कैल्विन कॉलिज और लिंडन बी जॉनसन सभी ने पिता के समर्पित इस दिन को राष्ट्रिय अवकाश घोषित करने के बारे में लिखा. आखिरकार साल 1970 में, राष्ट्रपति रिचर्ड दस्तखत कर अपनी रज़ामंदी दी.

लेकिन फादर्स डे मनाने की मंजूरी नहीं मिली. लेकिन सोनोरा ने फादर्स डे (Fathers Day) मनाने की ठान ली थी, इसके लिए यूएस तक में कैंपेन किया. इस तरह 19 जून 1910 को पहली बार फादर्स डे मनाया गया.

वहीं, मदर्स डे 1914 में बतौर नेशनल हॉलिडे मनाया जाने लगा था. लेकिन 1972 तक फादर्स डे को राष्ट्रिय अवकाश घोषित नहीं किया गया था. आगे सालों में प्रेज़िडेंट वुड्रो विल्सन, कैल्विन कॉलिज और लिंडन बी जॉनसन सभी ने पिता के समर्पित इस दिन को राष्ट्रिय अवकाश घोषित करने के बारे में लिखा. आखिरकार साल 1970 में, राष्ट्रपति रिचर्ड दस्तखत कर अपनी रज़ामंदी दी.
कोट्स
अगर किसी देश को भ्रष्टाचार मुक्त और खूबसूरत बनाना है तो मुझे लगता है कि इसमें 3 अहम लोग हैं जो यह बदलाव ला सकते हैं। वे हैं माता, पिता और गुरु।
- ए पी जे अब्दुल कलाम

कभी-कभी मुझे ऐसा लगता है कि मेरे पापा अकॉर्डियन की तरह हैं। जब वे मुझे देखकर हंसते तो ऐसा लगता है कि मैं अकॉर्डियन के नोट्स सुन सकता हूं।
- मार्कस जुसाक

कई बार सबसे गरीब व्यक्ति भी अपने बच्चों के लिए सबसे अमीर विरासत छोड़ जाता है।
- रुथ ई रेन्कल 
Previous Post
Next Post
Related Posts